गर्भावस्था (Pregnancy) के दौरान क्या नहीं खाना चाहिए

0

गर्भवस्था हर किसी महिला के लिए बहुत महत्वपूर्ण होता है की उस समय क्या खाये और क्या नहीं? जिससे की शिशु पुरे पोस्टिक आहार से निरोगी और स्वस्थ पैदा हो। आहार में छोटी सी गलती स्वस्थ्य ग़लती गंभीर स्वास्थ्य समस्याएं पैदा कर सकती है जिससे गर्भावस्था को नुकसान पहुंचा सकता है। इसी कारण डॉक्टर एक स्वस्थ आहार की सलाह आपको देते है। गर्भवती महिला के लिए जरूरी है की गर्भवस्था के दौरान क्या खाना चाहिए और प्रेगनेंसी में क्या नहीं खाएं जिससे की माँ और बढ़ते भ्रूण दोनों को नुकसान नहीं पहुंचे, आइये जानते है की प्रेगनेंसी में क्या नहीं खाना चाहिए।गर्भावस्था-में-क्या-खाना-चाहिए-Pregnancy-Diet-Tips-in-Hindi-Pregnancy-me-Aahar

गर्भावस्था (Pregnancy) में क्या नहीं खाए

गर्भावस्था के दौरान ज्यादातर खान पान पर ज्यादा ध्यान देने की जरूरत होती है।  क्यूंकि एक हृष्ट पुष्ट बच्चे के लिए जरूरी है संतुलित आहार, जिसमे प्रोटीन, विटामिन, खनिज की कोई कमी नहीं हो।  इसके अलावा आपको ऐसे फल भी नहीं खाने चाहिए जिससे आपको और आपके गर्भ में पल रहे शिशु को कोई लाभ नहीं मिल रहा बजाय नुक्सान हो रहा हो।  आइये जानते है क्या है ऐसे आहार।

1. गर्भवस्था में ये फल नहीं खाये

A. कच्चा पपीता- पपीते में बहुत ज्यादा विटमैन और पोषक तत्व होते है जो भ्रूण के विकास के लिए बहुत उपयोगी होते है। लेकिन अगर आप गर्भवस्था में अच्छा पका हुआ पपीता नहीं कहते है को इससे आपके शिशु को बहुत नुकसान हो सकता है क्यूंकि कच्चे पपीते में लेटेक्स नमक एंजाइम होता है यह लेटेक्स गर्भशय के संकुचन की और जाता है। इसलिए कच्चा पपीता गर्भशय में हानिकारक है।

B. अनानास- गर्भवस्था के दौरान अनानास से भी बचना चाहिए, इसमें ब्रोमेलैन होते हैं और गर्भाशय ग्रीवा और शुरुआती श्रम के नरम हो सकते हैं।

C. अंगूर- अंतिम तिमाही में अंगूर को बचा जाना चाहिए। यह शरीर की गर्मी में वृद्धि हो सकती है, जिससे आपके शिशु को बीमारी होने के सम्भावनाये बढ़ जाती है।

D. संतरा- गर्भवस्था के दौरान खट्टे फल खाने से बचना बहुत जरूरी है ये आपके गर्भ को नुकसान पंहुचा सकते है, एक गर्भवती महिला को संतरा खाने से बचना चाहिए।

2. शराब नहीं पियें 

गर्भवस्था के दौरान शराब पीना बहुत ही हानिकारक होता है यह अजन्मे बच्चे के लिए जहर की तरह होता है। आपके द्वारा शराब की मात्रा बच्चे के रक्त में प्लेसेंटा के जरिये जाएगी। जो की आपके बच्चे के स्वस्थ्य पर हानिकारक समस्याएं पंहुचा सकती है।

3. धूम्रपान नहीं करें 

धूम्रपान करना चाहे आप गर्भवस्था में हो या नहीं करना स्वस्थ्य के लिए हानिकारक होता है। तबाकू में मौजूद निकोटीन भ्रूण के विकास को धीमा कर देता है।  इससे हमारे गर्भ की आतंड़ियाँ बहुत प्रभवित होती है जिससे आपका बच्चा काम वजन और पुरे परिपक्क्व जन्म नहीं ले सकता है इसलिए ध्यान रखे की गर्भवस्था के दौरान तो कभी भी धूम्रपान नहीं करे।

4. फ़ास्ट फ़ूड छोड़ दें

बहार के फ़ास्ट फ़ूड में ज्यादा निकोटिन और वासा की मात्रा होती है जिसका असर सीधे आपके भ्रूण पर जाता है, बस एक बार ये सोचे की आपके एक अच्छा स्वस्थ बच्चा पैदा करना है उसके baad तो आप जीभर के खा सकते हो।

5. कॉफी और coffin संबंधित ड्रिंक

गर्भवस्था के दौरान तनाव तो आपको हो सकता है लेकिन अच्छे शिशु के लिए आपको इसका इस्तेमाल न के बराबर करना जरूरी है क्यूंकि कॉफ़ी में कैफीन की मात्रा बहुत अधिक होती है जो की आपके बच्चे में बृद्धि की कमी और काम वजन पर बढ़ा दाल सकता है। इसके अलावा कॉफ़ी में मौजूद कैफीन आपके शरीर में आयरन के अवशोषण को भी धीमा कर देता है जिससे आपको अनीमिया हो सकता है।

6. समुद्री भोजन

गर्भावस्था के दौरान शंखफिश, मार्लिन, तलवार मछली, शार्क जैसे समुद्री भोजन नहीं करना चाहिए जिससे भ्रूण के मस्तिष्क के विकास के लिए गंभीर रूप से हानिकारक हैं। किसी भी मछली के तेलों को भी शुरू करने से पहले अपने चिकित्सक से परामर्श करें। अंडरकुल्ड मछली से बचें क्योंकि इसमें हानिकारक बैक्टीरिया हो सकता है और आपको एक अवांछित संक्रमण मिल सकता है।

7. कच्चा मांस न खाएं 

गर्भवस्था के दौरान मॉस खाना बहुत लाभदायक होता है लेकिन अगर अच्छी तरह पका हुआ हो तो। क्यूंकि कच्चे मांस में टोक्सोप्लाज्जा अल्सर भी शामिल हो सकते हैं। ये अल्सर में टॉक्सोप्लाज्मा गोंडी परजीवी होते हैं और भ्रूण को गंभीर नुकसान हो सकता है। अगर आप कोई भी मांस कहते है तो उसे अच्छी तरह धोया जय और अच्छी तरह से पकाया जाय। मुर्गी का मांस खाने से बचना चाहिए।

8. कच्चे अंडे का सेवन नहीं करें 

कच्चा अंडा खाना भोजन के लिए जहर हो सकता है, कच्चा अंडा खाने से भ्रूण तो प्रभावित होगा ही साथ ही गर्भवती माँ भी बीमार हो सकती है। अंडे की सफेद और जर्दी दोनों को अच्छी तरह से पका लें। इसके अलावा कच्चे सब्जी वाले सलाद से बचे।

9. वसा से युक्त भोजन से बचें

बहुत अधिक वसा वाले भोजन करने से बचे। ओमेगा- ३,६, ९ फटी एसिड वाले खाद्य पदार्थ गर्भवस्था के दौरान खाने से बचने चाहिए। क्यूंकि ये खाद्य पदार्थ आपके वजन को ज्यादा और उच्च कोलेस्ट्रॉल की मात्रा आपके शरीर में भेजते है। गर्भवस्था के दौरान ज्यादा मक्कन, खट्टा क्रीम, मुगफली का मक्खन और हाइड्रोजनीकृत तेल से बचें।

10. डिब्बा बंद भोजन और जूस का सेवन करने से बचें 

गर्भवस्था में आपको डिब्बे या थैली में बंद भोजन और जूस कभी भी नहीं पीना चाहिए। हालाकि बंद जूस कभी भी नहीं पीना चाहिए। ये जूस और भोजन निश्चित रूप से आपके अजनबित बच्चे के लिए अच्छा नहीं है!

loading...
Loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here